जगन्नाथ स्कूल ऋषभ तीर्थ में पांच दिवसीय आर्य वीरांगना दल प्रशिक्षण शिविर संपन्न

0
139

मंजिल उन्हें मिलती है जिनके सपनों में जान होती है, पंख से कुछ नहीं होता, हौसलों से उड़ान होती है – चितरंजय पटेल ,

यहां हर बच्ची सरस्वती, लक्ष्मी और दुर्गा है जो ठान ले हर चीज हासिल कर सकती है – आचार्य मनीषी ..

सक्ती, मंजिलें उन्हें मिलती है जिनके सपनों में उड़ान होती है पंखों से कुछ नहीं होता हौसलों से उड़ान होती है, यह बात अधिवक्ता चित्रंजय पटेल ने आर्य वीरांगना दल प्रशिक्षण व चरित्र निर्माण शिविर के समापन सत्र के वक्ता की आसंदी से बताते हुए प्रशिक्षार्थी वीर बहनों जीवन में अनवरत प्रगति पथ पर बढ़ते रहने के लिए प्रेरित किया।

आर्य मनीषी ने प्रशिक्षार्थी बहनों से कहा कि आप सभी बहनें सरस्वती, लक्ष्मी, दुर्गा के स्वरूप हैं जो ठान ले तो हर चीज़ हासिल कर सकती है। मांगेराम अग्रवाल ने बच्चियों को रानी लक्ष्मी बाई कहते हुए आत्म रक्षण के साथ समाज उत्थान का आग्रह किया। बाल वीर बहनों को सरोज महंत, उदय मनहर, वेदव्रत आर्य, सरपंच ऋषभतीर्थ आदि ने बच्चियों को संबोधित किया।

आर्य समाज के सान्निध्य में संचालित जगन्नाथ उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में आयोजित इस पांच दिवसीय शिविर के आयोजन से आसपास के विभिन्न गांव से प्रशिक्षार्थी बालिकाओं के सर्वांगीण विकास की दिशा तय होगी जिसके लिए विद्यालय परिवार के साथ प्राचार्य कृष्णदास महंत का प्रयास सराहनीय है। आज इस अवसर विद्यालय के प्राचार्य कृष्ण महंत के अनुसार करीब ११२ बालिकाएं उपस्थित रह कर प्रशिक्षण प्राप्त किया।

जिसमें अनुशासन, दंड चालन, वाचन, परेड आदि विधाओं में पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ बहनों के परेड परीक्षण के साथ ही मंचासिन अतिथियों के स्वागत के साथ हुआ।

कार्यक्रम का सफल संचालन प्राचार्य कृष्णा महंत ने किया तो आभार प्रदर्शन वेदव्रत आर्य ने किया तथा इन पलों में ग्रामीणों व अभिभावकों के साथ स्कूल विद्यार्थियों की गरिमाराय उपस्थिति रही।

इसे भी पढ़ें।

स्वामी श्रद्धानंद बलिदान दिवस के अवसर पर आर्य वीर दल गुरुग्राम द्वारा आयोजित विशाल शोभायात्रा

आर्य वीर दल प्रशिक्षण शिविर बेचूबीर बनारस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here