आर्य वीर तथा वीरांगनाओं ने मनाया महर्षि दयानंद सरस्वती 200वीं जयंती

0
142

🌹🌻महर्षि दयानंद सरस्वती जयंती🌻🌹 :-

सामाजिक क्रांति के अग्रदूत नवजागरण के पुरोधा, नारी शिक्षा के प्रबल पोशाक, आजादी के प्रथम स्वप्न दृष्टा, राष्ट्रभक्त, वेदोंद्धारक, युगपुरुष, गौ भक्त, ब्रह्मचारी महर्षि दयानंद के जन्मदिवस पर स्वामी दयानंद विद्यालय में आर्यवीर एवं वीरांगना दल बस्ती की ओर से जयंती मनाई गई। इस अवसर पर उपस्थित जनों ने विधिवत यज्ञ किया जिसमें आर्य आयुष अपनी धर्मपत्नी श्रीमती सीमा आर्य के साथ यजमान रहे। यज्ञ उपरांत आर्य समाज नई बाजार बस्ती के मंत्री गरुड़ध्वज पांडे जी ने “लड़ने वाले हजारों को बेहाल कर गया, वह ऋषि था अकेला जो कमाल कर गया” ऋषि महिमा के गीत से कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

आचार्य देवव्रत आर्य मंडलपत्ति आर्य वीर दल बस्ती ने कहा कि महान समाज सुधारक एवं आर्य समाज के संस्थापक महर्षि दयानंद जी ने वेद प्रचार व वैदिक सिद्धांतों के पालन पर जोर दिया वैदिक संस्कृति के प्रचार-प्रसार हेतु आर्य समाज का दस अप्रैल अट्ठारह सौ पचहत्तर ईस्वी में स्थापना की। आज भी आयोजन विभिन्न अवसरों पर ढोंग पाखंड आडंबर कुरीतियों जाति पात आदि समाज को तोड़ने वाले अवैदिक विचारों का खंडन करते रहते हैं। समस्तीपुर बिहार से आचार्य ज्ञानेंद्र शास्त्री ने वेद प्रचार हेतु गुरुकुल खोलने के लिए प्रेरित किया और कहा कि गुरुकुलों में पढ़ने वाले ब्रह्मचारी समाज के सच्चे प्रहरी होते हैं।

आर्य वीर दल बस्ती के प्रभारी रवि आर्य जी ने कहा कि महर्षि दयानंद बचपन से ही तीव्र दार्शनिक बुद्धि के थे शिवरात्रि के दिन की घटना ने मूल शंकर से महर्षि दयानंद सरस्वती बना दिया जिन्होंने सच्चे ईश्वर उपासना का मार्ग सर्व समाज को दिखाया।पंडित राधेश्याम आर्य जी ने कहा कि राष्ट्रभक्त महर्षि दयानंद जी ने अंग्रेजो के खिलाफ राष्ट्र हित में कई अभियान चलाए। भारत भारतीयों का है विदेशी राजा की अपेक्षा स्वदेशी राजा उत्तम होता है ऐसा स्पष्ट वादी विचार महर्षि दयानंद जी के थे।

महर्षि दयानंद सरस्वती जी के 200 मी जयंती समारोह भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री आदरणीय नरेंद्र मोदी जी के द्वारा उद्घाटन किए जाने पर आर्य समाज नई बाजार बस्ती आर्य वीर दल एवं आर्य वीरांगना दल सहित उपस्थित सभी आर्य जनों ने आभार प्रकट किया।*इस अवसर पर कुमारी महिमा आर्य, कुमारी आयुषी ने महर्षि दयानंद के गुणों पर प्रभावशाली गीत सुनाया।

कार्यक्रम के अंत में सभी आर्य जनों ने वेद प्रचार का संकल्प लिया।इस अवसर पर मनोज गुप्ता, सुरेंद्र शर्मा, श्रीमती कलावती शर्मा, रिया चौधरी, अमरेंद्र कुमार, प्रखर आर्य विजय आर्य, प्रमोद गुप्ता, मनोज कुमार, श्लोक, अंशिका मद्धेशिया। आनंद आर्य, सोनम सोनी, अदिति बरनवाल, शुभी शर्मा, आदित्य कुमार, गणेश आर्य, विश्वनाथ प्रसाद, शालिनी मिश्रा, मानवी जायसवाल, दिलीप कुमार, अनूप कुमार, प्रीति गुप्ता, पूजा सोनी, नीलू देवी, गौरी आर्य, कौशलेंद्र प्रसाद सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।

आचार्य देवव्रत आर्य

मंडलपत्ति आर्य वीर दल बस्ती
 

नयापारा दुर्ग में स्वामी दयानंद सरस्वती जी की 200 जयंती मनाई गई :-

 

दुर्ग

आर्य समाज नयापारा दुर्ग में स्वामी दयानंद सरस्वती जी की 200 जयंती मनाई गई इस अवसर पर आर्य वीर दल दुर्ग भिलाई ने हवन सत्संग एवं प्रसाद वितरण कर इस दिन को स्मरणीय बनाया इस अवसर पर यज्ञ के ब्रह्मा आचार्य अंकित शर्मा रहे एवं वैदिक जगत की सुप्रसिद्ध विद्वान अजय आर्य जी द्वारा आर्य वीरों को स्वामी दयानंद जी के दृष्टांत से गंभीर विषयों को समझाने का प्रयास किया गया तथा आचार्य जी ने बताया कि किस प्रकार स्वामी दयानंद सरस्वती जी ने महिलाओं को वेद पाठ करने का अधिकार दिलाया।

इस कार्यक्रम में आर्य समाज आर्य नगर के प्रधान श्री गोपाल सिंह राजपूत जी एवं वरिष्ठ आर्य सदस्य संजय देशमुख जी आर्य वीर दल के अधिष्ठाता मनोज आर्य जी एवं आर्य समाज नयापारा के प्रधान श्री इंद्र आर्य जी आर्य वीर दल के जिला संचालक कृष्णमूर्ति जी एवं जिला मंत्री हिमांशु आर्य जी आर्य वीरांगना दल की जिला अध्यक्ष साक्षी आर्या जी एवं जिला मंत्री कविता आर्या जी के साथ ही आर्यवीर आनंद, आकाश, मोहित, आयुष, अतुल, कान्हा, वेद, अंकित आर्य जी उपस्थित रहे एवं आर्य वीरांगना दल से आर्य वीरांगना खुशी एवं निधि आर्या जी उपस्थित रही।

इसे भी पढ़ें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here