यह आर्यों की आदि भूमि है

0
93

Table of Contents

भारत की मिट्टी चन्दन है, इस मिट्टी का अभिनन्दन है।
यह वीरों की जन्मभूमि हैं, यह आर्यों की आदिभूमि है।।
रामकृष्ण भीष्म अर्जुन ने इस मिट्टी में जन्म लिया।
चन्द्रगुप्त विक्रमादित्य को, इस मिट्टी ने जन्म दिया।
बल पौरुष की कर्म भूमि है, मर्यादा की धर्मभूमि है।।१।।
वाल्मीकि और वेदव्यास ने गौरव इसे प्रदान किया।
दयानन्द स्वामी शंकर ने, शास्त्रार्थ अभियान किया।
वीरों की सन्देश भूमि है पुण्य भूमि साधना भूमि है।।२।।

वन्दे मातरम्👉https://aryaveerdal.in/vande-matram/

वीर शिवा राणा प्रताप, इसकी ही गोदी में खेले ।
गुरु गोविन्द बन्दा बैरागी, अपने प्राणों पर खेले ।
उत्सर्गों की तीर्थ भूमि है, संघर्षों की समर भूमि है।।३।।
इस मिट्टी पर बिस्मिल और अशफाक ने जीवन वार दिया।
भारत के हित जिए उसी के हित मरना स्वीकार किया।
शेखर की यह समर भूमि है, भगतसिंह की क्रान्ति भूमि है।।४।।

शक्ति भक्ति मुक्तिदा👉 https://aryaveerdal.in/shakti-bhakti-muktida/

दुर्गावती लक्ष्मीबाई ने यहाँ भारी संग्राम किया।
आजादी के लिए लड़ी, शत्रु का काम तमाम किया।
अबलाओं की सबल भूमि है यश गौरव से धवल भूमि है।।५।।
वीर हकीकत मतिराम ने, बोटी बोटी कटवा दी।
तपे तवे पर गुरु अर्जन ने, अपनी देह झुलसवा दी।
आत्मदान की आदि भूमि है बलिदानों की महाभूमि है।।६।।
लाल बाल ने बिपिन पाल ने, अकथनीय संकट झेले।
विजय वाहिनी ले सुभाष ने , अण्डमान के पट खोले ।।
नररत्नों की खान भूमि है , भूमण्डल की शान भूमि है।।७।।

जागो तो एक बार जागो 👇 https://aryaveerdal.in/jago-to-ek-bar-jago/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here