वैदिक धर्म के खातिर मिटना इन्हें सिखा दे

0
58

भगवान आर्यों को पहली लगन लगा दे।

वैदिक धर्म के खातिर मिटना इन्हें सिखा दे ।।

फिर राम कृष्ण निकले घर घर गली गली से ।

अर्जुन व कर्ण जैसे योद्धा रणस्थली से ।

भीष्म से ब्रह्मचारी और भीम महाबली से।

गौतम कणाद जैमिनी ऋषिवर पतञ्जलि से ।

फिर से कोई दयानन्द जैसा ऋषि दिखा दे।।१।।

चेतना जगाओं आप 👇 https://aryaveerdal.in/chetna-jagao-aap/

ऐसे हों लाल पैदा खेले जो गोलियों से।

भूमि को तृप्त कर दे श्रद्धा की झोलियों से।

गूँजे ये देश मेरा शेरों की बोलियों से ।

बिस्मिल गुरु भगतसिंह वीरों की टोलियों से ।

इनको वतन की खातिर फाँसी पे भी हँसा दे ।।२।।

कोई लेखराम जैसा गुरुदत्त दयाल होवे ।

कोई श्रद्धानन्द होवे कोई हंसराज होवे ।

बढ़ती बीमारियों का फिर से इलाज होवे ।

नेतृत्व जिनका पाकर उन्नत समाज होवे ।

बेधड़क लाजपत सा फिर से पथिक बना दे ||३||

उठो जवानों 👇 https://aryaveerdal.in/utho-jawano/

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here