तुम्हारे दिव्य दर्शन की मैं इच्छा ले के आया हूँ।

0
49

गीत :- प्रातः यज्ञ के समय 👉 https://aryaveerdal.in/he-prabhu-ham-tum-se-var-paye/

तुम्हारे दिव्य दर्शन की मैं इच्छा ले के आया हूँ।

पिला दो प्रेम का अमृत पिपासा लेके आया हूँ ।।१।।

रतन अनमोल लाते लाने वाले भेट को तेरी ।

मैं केवल आसुओं की मञ्जुमाला लेके आया हूँ।।२।।

गीत :- तव वन्दन ही नाथ करे हम👇 https://aryaveerdal.in/tav-vandan-he-nath-kare-ham-2/

जगत् के रंग सब फीके तू अपने रंग में रंग दे।

मैं अपना यह महाबदरंग बाना लेके आया हूँ ।।३।।

प्रकाशानन्द हो जाए मेरी अँधेरी कुटिया में ।

तुम्हारा आसरा विश्वास आशा लेके आया हूँ।।४।।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here