युवा शक्ति के माध्यम से होगी संस्कृति रक्षा: आचार्य संदीप

0
26

*युवा शक्ति के माध्यम से होगी संस्कृति रक्षा: आचार्य संदीप*

रोहतक: 13 फरवरी: संस्कृति रक्षा, शक्ति संचय एवं सेवा आर्य वीर दल के प्रमुख उद्देश्य हैं। वर्तमान में हमारी संस्कृति पर अनेक वैचारिक आघात हो रहे हैं, भ्रम फैलाये जा रहे हैं। युवा शक्ति के सहयोग के बिना संस्कृति रक्षा नही हो सकती। बिना शक्ति संचय के धर्म की रक्षा सम्भव नही है। ये विचार आर्य वीर दल रोहतक के नवीन कार्यालय के उद्घाटन अवसर पर सोनीपत से पधारे आर्य वीर दल हरियाणा के प्रांतीय कार्यकारी संचालक आचार्य संदीप दर्शनाचार्य ने स्थानीय गांधी नगर आर्य समाज मे व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि ईसाई मिशनरी सेवा के नाम पर धर्म परिवर्तन करवाती हैं। इससे पूर्व स्वस्तिवाचन के मंत्रों के साथ ब्रह्मचारी संदीप एवं गुरुकुल विश्व भारती लाढ़ौत के निदेशक आचार्य नंदकिशोर के ब्रह्मत्व में यज्ञ सम्पन्न हुआ। पवनजीत एवं सचिन दुआ ने सुमधुर भजन सुनाए। संजय कथूरिया ने आर्य वीरों के चरित्र पर प्रकाश डालते हुए ‘समझ लो वही आर्य वीर हो तुम’ सुनाया। आचार्य नंदकिशोर ने संगठन के सूत्र बताते हुए कार्यकर्ताओं के बीच विचार-विनिमय, संवाद एवं निरंतर मिलन को आवश्यक बताया। प्रधान व्यायाम शिक्षक प्रवीण आर्य ने भी सभा को संबोधित किया। बौद्धिक प्रमुख ओमप्रकाश जी ने आर्य वीर दल के गौरवशाली इतिहास का वर्णन करते हुए 1939 के हैदराबाद आंदोलन, 1947 के राहत शिविर, हिंदी सत्याग्रह एवं प्राकृतिक आपदाओं में लगाए जाने वाले सहायता शिविरों की जानकारी दी। उन्होंने रोहतक जिले में आर्य वीर दल के विकास क्रम का भी उल्लेख किया। धन्यवाद ज्ञापन मण्डलपति सतीश आर्य ने किया। कार्यक्रम के उपरांत लंगर की व्यवस्था में सभी अतिथियों ने प्रशाद ग्रहण किया। आयोजन में लोकोपासना न्यास के अध्यक्ष सतीश सिन्धवानी, गुलशन खेत्रपाल, प्रमोद देवी, संदीप दुआ, संदीप काहनी, सुहासिनी अरोड़ा, सुमन आर्या, राज दुआ, रमा, योगेश, रोहतास सैनी, देसराज आर्य, भीमसेन सचदेवा, आर्य पारिवारिक सत्संग सभा के प्रधान संजीव सचदेवा, अनिल आर्य, हितेश मदान, सतीश सिक्का, यशपाल भाटिया आदि उपस्थित रहे।

 

प्रेषक-

अंकुर अरोड़ा

मंत्री, आर्य वीर दल रोहतक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here