संगठन गीत

0
127

संगठन हम करें, आपदों से लड़ें, हमने ठाना ।

हम बदल देंगे सारा जमाना ।।

वीर प्रताप के शेर जागो, वीर बन्दा की शमशीर जागो ।

बज रहा है बिगुल, नौजवाँ तू निकल, रण में जाना ||१||

शेर शिवराज की तेग खड़के, ध्वनि हर-हर महादेव भड़के।

शक्ति हो साथ में, ओ३म् ध्वज हाथ में, बढ़ते जाना । । २ ।।

चाहे आँधी या तूफान आए, वर्षा ओले या बादल हों छाए ।

हम रुकेंगे नहीं, और झुकेंगे नहीं, बढ़ते जाना ।।३।।

आर्य वीरों ने यह राग गाया, वैदिक राज्य का डंका बजाया।

हम जिएँ या मरें, छल बलों से लड़ें, हमने ठाना || ४ ||

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here