आर्य वीरो एवं आर्य वीरांगनाओं ने प्रशिक्षण के दौरान सीखे व्यायामों एवं आत्मरक्षा के गुर

0
57

एपेक्स ट्रस्ट इंस्टिट्यूट एवं हॉस्पिटल चुनार प्रांगण में सार्वदेशिक आर्य वीर दल द्वारा पूर्वोत्तर भारत हेतु शाखा नायक श्रेणी का अन्तर्राज्ययी 11 दिवसीय आवासीय प्रशिक्षण शिविर का आज समापन हुआ। अतिथि गणों द्वारा आर्यवीर टोलियों का निरीक्षण एवं परेड की सलामी लेकर समापन कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

शिविर में विभिन्न प्रदेशों से आए 70 आर्ययवीरों को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि एसडीएम चुनार राजेश वर्मा ने कहा कि वर्तमान में बच्चों एवं युवाओं में अनुशासन, शारीरिक, बौद्धिक एवं आध्यात्मिक विकास के साथ आत्मरक्षा हेतु आयोजित इस प्रकार के आवासीय प्रशिक्षण शिविर में सार्वदेशिक आर्यवीर दल एक अहम भूमिका निभा रहा है।

शिविर के प्रधान संचालक सत्यवीर सिंह के विशेष उदबोधन एवं पाणिनी कन्या महाविद्यालय की प्राचार्या नंदिता शास्त्री जी ने अपने ओजस्वी व्याख्यान द्वारा सभी आर्यवीरों को वैदिक महत्व को बताते हुए आत्मशक्ति वर्धन के प्रति प्रेरित किया। एपेक्स के चेयरमैन डॉ एस के सिंह ने कहा कि वैदिक जीवन ही समाज, देश व विश्व के लिए सर्वोच्च जीवन शैली है।

समापन समारोह का संचालन करते हुए शिविराध्यक्ष एवं उपसेनापति व उपप्रधान न्यू दिल्ली आर्य वीर दल दिनेश आर्य ने अतिथिगणों का स्वागत किया एव शिविर के उद्देश्य का वर्णन किया। आर्यवीरों एवं आर्य वीरांगनाओं ने प्रशिक्षण के दौरान सीखे व्यायामों एवं आत्मरक्षा के गुरों को प्रदर्शित किया।

पूरी अनुशासनात्मक कार्यवाही के अंतर्गत लिखित एवं प्रयोगात्मक परीक्षा के आधार पर उत्तीर्ण प्रशिक्षणार्थी आर्ययवीरों को दिल्ली से आए प्रशिक्षक प्रशांत आर्य, राहुल आर्य, सौरभ मौर्य ने पुरस्कृत किया एवं ध्वज गीत के साथ ध्वजावतरण कर आवासीय प्रशिक्षण शिविर का समापन एवं धन्यवाद ज्ञापन दिया गया। इस अवसर पर एपेक्स ट्रस्ट अस्पताल एवं इंस्टिट्यूट के चिकित्सकों, फैकल्टी सहित महाप्रबंधक पंकज सिंह, मुख्य समन्वयक विनोद वर्मा, नवीन सिंह, कौशल आदि उपस्थित रहे।

आर्य समाज के कार्यक्रमों के सूचना पाने के लिए कम्युनिटी से जुड़े

Sarvan Sundar Vyayam

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here