200 कुण्डीय महायज्ञ का हुआ भव्यता के साथ आयोजन संभल

0
128

200 कुण्डीय महायज्ञ का हुआ भव्यता के साथ आयोजन

जिले के पन्द्रह स्कूल के विद्यार्थियों ने लिया व्यायाम प्रदर्शन में भाग
महर्षि दयानन्द सरस्वती जैसे युगद्रष्टा महापुरुष की जयन्ती वर्ष मनाना हमारा सौभाग्य – अनामिका यादव

बबराला- कस्बा की बाबूराम सिंह भाय सिंह डिग्री कॉलेज के मैदान में आर्य वीर दल उत्तर प्रदेश के आह्वान पर जिला आर्य प्रतिनिधि सभा एवं आर्य वीर दल सम्भल के के तत्वावधान में 200 कुण्डीय महायज्ञ एवं ऋषि चर्चा सम्मेलन का आयोजन किया गया यज्ञ के ब्रह्मा आचार्य स्वदेश जी महाराज अधिष्ठाता गुरूकुल विश्वविद्यालय वृन्दावन, पुरोहित नरेश चन्द्र शास्त्री मुम्बई, आचार्य जीवन सिंह आर्य प्राचार्य गुरूकुल साधु आश्रम अलीगढ़ रहे आचार्य स्वदेश जी ने विद्यार्थियों के आत्म निरीक्षण की संकल्प दिलाते हुए कहा कि बच्चों के संस्कारों का उदय बाल्यावस्था माता-पिता के सानिध्य में ही प्रारम्भ हो जाती है प्रान्तीय सह संचालक दयाशंकर आर्य ने संचालन करते हुए ने कहा बताया कि स्वामी दयानन्द सरस्वती जो कि आर्य समाज के संस्थापक के रूप में पूज्यनीय हैं यह एक महान देशभक्त एवम मार्गदर्शक थे, जिन्होंने अपने कार्यो से समाज को नयी दिशा एवं उर्जा दी उस समय के स्वतंत्रता सेनानी और वीर पुरुष स्वामी दयानन्द सरस्वती के विचारों से प्रभावित थे कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण देश की युवा पीढ़ी होगी युवाओं के द्वारा भव्य व्यायाम प्रदर्शन, एवं शक्ति प्रदर्शन रहा जिसकी तैयारियां पिछले सोमवार से आर्य वीर दल के शिक्षकों द्वारा रविराम इण्टर कालेज जिजौण्डां डांडा, सूरजमुखी इण्टर कालेज गवां, मुंशी सिहं दुलारो देवी इण्टर कालेज केसरपुर, आर. एस. डी. डी मैमौ० इण्टर कालेज ईशापुर, जय सिहं मैमोरियल कन्या इण्टर कालेज भिरावटी, बी. एस. बी. डी. इण्टर कालेज स्कूल गवां, डी. ए. वी. पब्लिक स्कूल गवां, वंशीधर स्मारक पूर्व माध्यमिक विद्यालय रजपुरा, टीकम सिहं आर्य आदर्श विद्यालय भीकमपुर जैनी सीताराम मैमोरियल हायर सैकेन्डरी स्कूल बबराला, बाबूराम सिहं भाय सिंह डिग्री कालेज बबराला, डी. ए. वी. इण्टर कालेज गुन्नौर, अलखराम सिहं मैमोरियल पब्लिक स्कूल रजपुरा, बाबूराम सिंह इण्टर कालेज बबराला, महर्षि दयानन्द वैदिक इण्टर कालेज खिरनी के छात्र एवं छात्राएं भव्य व्यायाम एवं शक्ति प्रदर्शन में भाग लिया आर्य वीर दल के जिला संचालक ज्योति वसु आर्य ने बताया कि आर्य वीर दल आर्य समाज का युवा संगठन है जो महर्षि दयानंद सरस्वती की 200 में जयंती वर्ष के ज्ञान ज्योति पर्व को धूमधाम से मनाया है रामवीर सिंह शास्त्री ने बताया कि संसार में अनेक ऐसी परोपकार की कार्य हो सकते हैं जिन्हें करना उत्तम पुण्य दायक है परंतु भगवान मनु जी की दृष्टि में वेद विद्या के दान से बढ़कर कोई बड़ा दान पुण्य नहीं है और वेद विद्या का यथार्थ स्वरूप भी वैदिक विज्ञान के अनुसंधान के द्वारा ही प्रकट होता है इस पुण्य के कार्य के क्षेत्र में आर्य समाज अग्रणी होकर के अपनी भूमिका निभा रहा है


कार्यक्रम की मुख्य अतिथि डॉ अनामिका यादव जिला पंचायत अध्यक्ष ने युवाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारत में वेद ज्ञान व बालिकाओं के प्रशिक्षण में आर्य वीर दल का कार्य प्रशंसनीय है युवाओं को व्यायाम के साथ साथ नैतिक मूल्यों का विकास भी करना चाहिए। गुरूकुल वृन्दावन के पूर्व स्नातक राष्ट्र वसु आर्य ने ईश्वर भक्ति व देश भक्ति के गीत गाए आर्य वीर दल उत्तर प्रदेश के प्रदेश संचालक पंकज आर्य ने युवाओं को महर्षि दयानन्द सरस्वती की समाज को देन व संगठन चर्चा पर प्रकाश डाला कार्यक्रम में सभी यज्ञकुण्डों पर चार-चार गृहस्थी यजमान यज्ञ में आहुतियां देने पहुंचे पांडाल के बाहर पर आर्य समाज से संबंधित साहित्य एवं आयुर्वेदिक औषधियां व पतंजलि की स्ट्रॉल भी लगाई गई व्यायाम शिक्षक हरी सिंह आर्य, राजेश आर्य रूपेन्द्र आर्य, विक्रान्त आर्य, गौरव आर्य, अर्जुन आर्य, शिवदत्त आर्य, सुभाष आर्य, शुभम आर्य, ज्योति वसु आर्य, कार्यक्रम में नीलेश यादव, अखिलेश अग्रवाल, रामवीर शास्त्री, दयाशंकर आर्य, तिलक सिंह, यशपाल शास्त्री, ज्योति वसु आर्य, सुभाष आर्य, नवनीत यादव, क्षेत्रीय यजमान एवं आर्य समाज आर्य वीर दल के कार्यकर्ता मौजूद रहे ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here